छातापुर के सभा भवन में हुई पंचायत समिति की बैठक

मिथिला सिटी न्यूज़ 

बिहार 
छातापुर।सुपौल।सोनू कुमार भगत
छातापुर प्रखंड सह अंचल कार्यालय परिसर स्थित ललित नारायण सभा भवन मे सोमवार की पंचायत समिति की तीसरी बैठक हुई। प्रखंड प्रमुख आशिया देवी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में बीडीओ रीतेश कुमार सिंह, उपप्रमुख संजय कुमार यादव समेत मुखिया, पंचायत समितियों के अलावे कई विभाग के पदाधिकारी व प्रतिनिधि शामिल हुए। बैठक में हर घर नल का जल, जातीय आधारित गणना, बाल विकास, शिक्षा विभाग एवं स्वच्छता विभाग की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान कई प्रस्ताव लिये गए और आदेश जारी किया गया गहमागहमी के बीच शुरू हुई बैठक के दौरान सदन में एकबार फिर कई विभाग के पदाधिकारियों की अनुपस्थित रहने का मुद्दा उठा। कई सदस्यों ने विद्यालय संचालन एवं शैक्षणिक व्यवस्था पर कई सवाल खड़े किये। कहा कि बीआरसी सिर्फ एमडीएम फाइल को डील करने में व्यस्त रहती है। वहीं मधुबनी पंचायत के मुखिया सीतानंद झा उर्फ सुनील बाबु ने कहा कि साल 2001 से लेकर आजतक कितने प्रखंड शिक्षकों पर कार्रवाई हुई है। इसकी जानकारी पिछले कई बैठकों से मांगी जा रही है। परंतु प्रस्ताव मे लिये जाने के बावजूद आजतक इसकी जानकारी उपलब्ध नहीं कराई गई। ऐसे में पंचायत समिति की बैठक का कोई औचित्य नहीं है जिसपर बीडीओ श्री सिंह ने बीईओ को अग्रेतर कार्रवाई सुनिश्चित करने का निर्देश दिया।

वहीं उपप्रमुख संजय कुमार ने ऑगनवाडी केंद्र का नाम एवं संचालन स्थल के नाम में भिन्नता का मुद्दा उठाया। कहा कि केंद्र का नाम संचालन स्थल के अनुरूप होना चाहिए और यह व्यवस्था पूर्व से चल रहा है। कई पंसस ने केंद्र का संचालन खराब स्थिती में रहने की जानकारी दी। कहा कि सीडीपीओ या एल एस पूर्व नियोजित तरीके से संबंधितों को सुचना देकर निरीक्षण में जाती हैं। जिसके कारण केंद्रों के संचालन में कोई सुधार नही हो रहा है। वहीँ सीडीपीओ ने कहा कि केंद्र का संचालन बेहतर हो सके इसके लिए वे लगातार प्रयास कर रही हैं। बताया कि 215 केंद्रों के लिए भवन बनाने हेतू जमीन का खोज करना है। जिस वार्ड में केंद्र आवंटित नहीं है फिलहाल वैसे वार्ड को समीप के केंद्र से टैग कर दिया गया है। अधिकांश सदस्यों ने मुख्यमंत्री हर घर नल का जल योजना की पोल खोलकर रख दिया। कहा कि पीएचडी के अभियंता फोन नहीं उठाते, हर घर नल का जल योजना की स्थिती बद से बदतर है। इतना ही नही 10 प्रतिशत परिवारो को भी इस योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। इसपर बीडीओ ने कहा कि लगातार निरीक्षण से स्थिती मे सुधार आया है। अभी भी व्यापक सुधार की गुंजाइश है जिसके लिए प्रशासन प्रयत्नशील है। वहीं सदन में प्राथमिक स्वास्थ्य उपकेंद्र का संचालन स्थाई व नियमित रूप से करने की मांग की। बताया गया कि पंचायत मे कार्यरत एएनएम किस जगह बैठती है उसकी जानकारी आमजनों को नहीं रहती है। उपप्रमुख ने कहा कि उर्वरक समिति की बैठक में जो निर्णय लिया गया परंतु उसपर अभी तक अमल नहीं हो पाया है। नतीजतन आवंटन की जानकारी से लेकर वितरण व्यवस्था में कोई सुधार नही दिख रहा। वहीँ सदस्यो ने कहा कि भूमिहीन एवं पर्चाधारी लोग आधार कार्ड के आधार पर यूरिया प्राप्त कर उसे महंगे दाम पर जरूरत मंदों को बेच देता है। जबकि वास्तविक किसान यूरिया के लिए आर्थिक व मानसिक रूप से प्रताड़ित हो रहे हैं। कहा कि वितरण व्यवस्था मे खामियों को दूर करने के लिए पंचायत स्तर पर खाद दुकानों को टैग करने, यूरिया के लिए आधार कार्ड के साथ जमीन का लगान रसीद लिये जाने की आवश्यकता है। यह सुझाव उर्वरक समिति की गत बैठक मे भी दिया गया था। केसीसी ऋण तथा पीएम सम्मान निधि योजना योजना पर भी चर्चा हुई सदन में मुखिया सुनील बाबु, शंभू कुमार सिंह, संजीत कुमार चौधरी, गजेंद्र कुमार राम, बीवी साजदा खातुन, शोभा देवी, बीबी कुलसुम तथा पंसस बिमल किशोर भारती बिमल झा, राजकुमार सिंह, मो. नुरूद्दीन सहित कई सदस्यों ने अपने क्षेत्र की समस्याओ को रखा। बीडीओ ने सभी सदस्यों को समस्याओ के निदान हेतू आश्वस्त करते हुए संबंधित पदाधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिया।

बैठक में बीइओ नंदकिशोर सिंह, सीडीपीओ कुमारी पुजा, डा. देवेंद्र प्रसाद यादव, बीएओ अरविंद कुमार रवि, स्वच्छता समन्वयक संजय कुमार, बीएसओ संतोष कुमार, पशु चिकित्सा पदाधिकारी डा. शशिभूषण प्रसाद, एमडीएम प्रभारी बिनोद कुमार राम, अंचल कार्यालय के प्रधान सहायक संजय कुमार, मनरेगा कार्यालय के लेखापाल मदन कुमार आदि मौजूद थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालय बेला पंचरूखी में बैगलेस सुरक्षित शनिवार का आयोजन किया गया

🔊 Listen to this मिथिला सिटी न्यूज़ समस्तीपुर 28 जनवरी 2023 रिपोर्ट : राजेश झा। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *