Breaking News

*नीरा व्यवसाइयों पर उत्पाद विभाग के मनमानी एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ सड़क जाम*

*नीरा व्यवसाइयों पर उत्पाद विभाग के मनमानी एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ सड़क जाम*

समस्तीपुर,ताजपुर:- बंगरा एवं ताजपुर थाना क्षेत्र के विभिन्न्न जगहों से उत्पाद विभाग की टीम द्वारा बुद्धवार को करीब दर्जन भर नीरा व्यवसायियों को तारी व्यवसाय बताकर गिरफ्तार किया गया। जिसमे उबटन लगाये एक दुल्हा भी सामिल बताया जा रहा है, जिसका सादी अगले 20 नवम्बर को है।जानकारी के मुताविक ताजपुर थाना क्षेत्र ग्राम सिरसिया,भेरोखरा एवं बंगरा थाना क्षेत्र के ग्राम कोठिया से उत्पाद विभाग की टीम द्वारा नीरा दुकान पर छापेमारी कर नीरा बेचने वालों एवं पीने वालों को गिरफ्तार किया गया है यह बताकर कि ये लोग ताड़ी बेचने एवं पीने वाले हैं। गिरफ्तारी के बिरोध में ताजपुर से महुआ जाने वाली सड़क बालू मंडी हरिशंकरपुर बघौनी एवं कोठिया में लोगों ने सड़क जाम कर उत्पाद विभाग पर नाजायज वसूली करने का आरोप लगाते हुए बिरोध प्रदर्शन किया। करीब 5 घण्टे याता-यात पूर्णतः बाधित रहा। जाम में शामिल लोगों का कहना है कि एक तरफ नीरा पीने व बेचने को सरकार प्रोत्साहन कर रही है, वहीं उत्पाद विभाग की टीम नीरा को ताड़ी बता कर पीने व बेचने बालों को पकड़ कर जेल व फाइन कर रही है। शकुंती देवी का कहना है कि उनके पुत्र जीतेंद्र पासवान का 20 नवंबर को शादी है। उसे भी गिरफ्तार कर लिया गया है। उबटन लगाये जीतेंद्र शौच के लिए निकला ही था तभी घात लगाये बैठे उत्पाद विभाग की टीम ने जीतेंद्र समेत अन्य लोगों को गिरफ्तार कर साथ समस्तीपुर लेकर चली गई। उधर कोठिया से भी नीरा व्यवसाय अनिल महतो एवं उनके घर मे राज मिस्त्री का काम करने आये एक लेबर को गिरफ्तार किया गया है।लोगों का कहनाहै कि उत्पाद विभाग की टीम एक बार चार- पांच गाड़ी से दल-बल के साथ आते हैं और आंख मूंद कर जो पकड़ाया सभी को जीप पर लाद कर ले जाते हैं। उनसे मोटी रकम वसूल कर छोड़ते हैं। सच्चाई बात बताने पर पुलिस द्वारा गाली देते हुए मौके पर जुटे लोगों को भगा दिया जाता है। फलस्वरूप लोगों ने न्याय की मांग पर सड़क जाम किया। नीरा व्यवसायी के जाम में शामिल मनोज एवं अन्य लोगों ने उत्पाद विभाग एवं पुलिस पर आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि मोटी रकम लेकर शराब एवं शराबी को छोड़ दिया जाता है और नीरा (ताड़ी) पीने एवं बेचने वाले गरीब-दलितों को पकड़कर जेल भेज दिया जाता है।यह अन्याय है और हमलोग इस अन्याय के खिलाफ लड़ेंगे। इस सम्बंध में महिला संगठन ऐपवा के जिला अध्यक्ष सह भाकपा माले बंदना सिंह ने कहा कि प्रायः देखा जाता है कि शराब बरामद होने के बाबजूद उत्पाद विभाग एवं पुलिस दो- तीन घंटे इंतजार कर मोटी रकम वसूली कर दोषी को छोड़ देती है, मामले का रफा- दफा कर देती, कभी पकड़ाये गये शराब की मात्रा घटा देती है लेकिन ताड़ी पीने एवं बेचने वाले मजदूर तबके के लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज देती है. कमाऊ मजदूर के जेल जाने से उनके परिजनों के समक्ष जीविकोपार्जन की समस्या आ जाती है. माले प्रखण्ड सचिव सुरेन्द्र प्रसाद सिंह ने उत्पाद एवं पुलिस विभाग में फैले भ्रष्टाचार पर रोक लगाने, पुलिस, उत्पाद विभाग के अधिकारियों एवं कर्मियों द्वारा जमा किया जा रहा अकूत संपत्ति की जांच एवं कारबाई समेत उक्त घटना की जांच कर गिरफ्तार निर्दोष लोगों को रिहा करने की मांग की है।शाम तक सभी गिरफ्तार को रिहा करने, पासी समाज के साथ हो रहे ज्यादती रोकने की ताजपुर थानाध्यक्ष ब्रजकिशोर सिंह की घोषणा पर भाकपा माले के सुरेंद्र प्रसाद सिंह, पासी समाज के महासचिव पंकज कुमार चौधरी आदि ने आक्रोशित कार्यकर्ताओं को समझा- बुझाकर 5 घंटे बाद जाम समाप्त कराया गया।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

मंजू देवी की सफलता की कहानी उन्ही की जुबानी

🔊 Listen to this समस्तीपुर 18 नवंबर 2022 रिपोर्ट : देवेन्द्र कुमार महतो। समस्तीपुर, ताजपुर: …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *