कीर्ति चक्र से सम्मानित शहीद पिंटू सिंह की दूसरी बरसी पर शौर्य नमन कार्यक्रम

मिथिला सिटी न्यूज़

बिहार 

कीर्ति चक्र से सम्मानित शहीद की बरसी पर आला अधिकारियों व सांसदों, विधायकों व विधान पार्षद ने नहीं ली शहीद परिजनों की सुधि।

शहीद के नाम पर पुस्तकालय, कॉलेज, सड़क, चौक आदि के नामकरण की मांग।

शहीद पिंटू की पावन भूमि पर हर बरस लगेंगे मेले,
वतन पे मरने वाले पिंटू का यही बाकी निशां होगा!

बेेेेगूूसराय : बखरी में शहीद पिंटू सिंह की शहादत दिवस पर “शौर्य नमन” कार्यक्रम के द्वारा हजारों लोगों ने श्रद्धांजलि अर्पित की। शहीद के गांव ध्यानचक्की-बगरस में बखरी की सामाजिक व शैक्षणिक संस्था ‘अभिनव पहल’ के द्वारा आयोजित ‘शौर्य नमन’ कार्यक्रम में बड़ी संख्या में प्रशासनिक व पुलिस पदाधिकारी, जनप्रतिनिधियों, सामाजिक व राजनीतिक हस्तियों, शिक्षकों व स्थानीय लोगों ने शिरकत कर अपनी माटी के लाल के शहादत को सलाम किया। प्रथम पुष्प उनकी नन्ही पुत्री ‘पिहू’ ने अर्पित कर व संयुक्त रूप से अनुमंडलाधिकारी अशोक कुमार गुप्ता, बी.डी.ओ. अमित कुमार पांडेय, व राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रमुख
मनोरंजन वर्मा ने किया।


नम आंखों से संबोधित करते हुए एसडीओ अशोक कुमार गुप्ता ने कहा कि तिरंगा में लिपटने का सम्मान बिरले को ही नसीब होता है।धन्य है यह गांव और धन्य है वह कोख जिसने पिंटू जैसे परमवीर योद्धा को पैदा कर देश पर कुर्बान कर दिया। देश की रक्षा में आतंकियों से लोहा लेते हुए पिंटू के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता।जिन्होंने अपने परिजनों की परवाह से ज्यादा अपने देश की परवाह की। भारत सरकार ने शहीद को मरणोपरांत कीर्ति चक्र से सम्मानित कर इस क्षेत्र में रहने वाले लोगों का मान सम्मान बढ़ाया है। कार्यक्रम में मोकामा से पहुंचे सीआरपीएफ कमाडेंट अजय कुमार ने कहा कि पिंटू सिंह ने जिस तरह आतंकियों से डटकर मुकाबला करते हुए शहादत दिया, उसका गम हमें आज भी है। उनके बलिदान को सीआरपीएफ कभी भूला नहीं सकता। उनका हौसला और वीरता देश व देशवासियों की रक्षा में लगे हम फौजियों को सदैव प्रेरणा का स्रोत बना रहेगा।

कमाडेंट ने कहा कि उनके परिवार जनों को हर संभव मदद का प्रयास करते रहेंगे। बीडीओ अमित कुमार पांडेय ने कहा कि सीमा पर पिंटू जैसे जवानों के शौर्य और बलिदान की वजह से ही हम महफूज़ हैं तथा पिंटू जैसे वीरों के चलते ही हमलोग अपने घरों में चैन की नींद सो पाते हैं ।उन्होंने सभी लोगों से सैनिक और अर्धसैनिक बलों में कार्यरत फौजियों को सम्मान देने की अपील की। एसडीओ द्वारा शहीद की पत्नी, बेटी पीहू और बड़े भाई अमरेश सिंह, मिथलेश सिंह आदि को शौर्य नमन का प्रतीक चिन्ह और शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया।

शहीद की पत्नी से मिले कमाडेंट और एसडीपीओ।

कार्यक्रम के दौरान ही शहीद की पत्नी अंजू सिंह से सीआरपीएफ कमाडेंट अजय कुमार और एसडीपीओ ओमप्रकाश ने मिलकर उनका हालचाल जाना।अंजू सिंह से किसी तरह की परेशानियों के संबंध में जानकारी ली और कहा कि किसी तरह की कोई भी परेशानी होने पर हमलोगों को तत्क्षण याद किया जा सकता है।द्वय अधिकारियों ने उन्हें मदद का भरोसा दिलाया।इस पर शहीद की पत्नी अंजू ने फिलहाल किसी तरह की परेशानी नहीं होने की बात कही।

शहीद की नन्ही बेटी पीहू ने कहा पापा की तरह पुलिस बनूंगी।

अपने पिता के दुसरे बरसी पर शहीद की सात वर्षीय पुत्री पीहू ने पिता को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान उपस्थित लोगों के आंख भर आए। बातचीत के क्रम में पीहू ने अपने पिता की तस्वीर को निहारते हुए कहा कि, मैं भी पढ़ लिखकर पापा की तरह पुलिस बनूंगी और देश के दुश्मनों को मार गिराउंगी। साथ ही “अपने पापा को सदैव मिस” करते रहने की बात ने मौके पर मौजूद लोगों को झकझोर दिया और श्रद्धांजलि कार्यक्रम को गमगीन बना दिया।

शहीद पिंटू के सम्मान में डिग्री काॅलेज का नामकरण करने की मांग। कार्यक्रम में समाजिक संस्था अभिनव पहल के संस्थापक शिक्षक बसंत कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि शहीद पिंटू सिंह को बखरी क्षेत्र में जो सम्मान मिलना चाहिए, उसमें आज भी कहीं ना कहीं काफ़ी कमी क्षेत्र में झलक रही है। उनके स्मृति को ताजा रखने के लिए बखरी के महत्वपूर्ण चौक चौराहे अथवा पथ का नामकरण शहीद पिंटू के नाम से करने तथा शहीद के आदमकद प्रतिमा स्थापित किए जाने की मांग की।वहीं अधिकांश वक्ताओं ने प्रस्तावित डिग्री काॅलेज का नामकरण भी शहीद पिंटू सिंह के नाम से करने की मांग की, ताकि भावी पीढ़ी पिंटू सिंह की शहादत को याद रख सकें।


अध्यक्षता करते हुए अभिनव पहल, अध्यक्ष प्रमोद केशरी ने कहा कि शहीद पिंटू ने अपने शौर्य व शहादत के द्वारा इस क्षेत्र का नाम स्वर्णाक्षरों में देश के वीरता के इतिहास में शामिल करा दिया। उनका रिण प्रत्येक देशवासी पर है, जो अपने-अपने क्षेत्रों में बेहतर कार्य कर ही चुका सकते हैं। पूर्व विधायक रामविनोद पासवान, जिला पार्षद झूना सिंह, वार्ड पार्षद सिधेश आर्या ने शहादत के महत्व पर विस्तार से प्रकाश डाला। दीपक सिंह, मुरारी ठाकुर तथा शहीद के हाईस्कूल के शिक्षक सरोज कुमार व शहीद के साथ लंबा वक़्त बिताए हुए दीपक गोस्वामी ने शहादत को अनमोल बताते हुए पिंटू सिंह के सपनों को साकार करने के लिए शिक्षा के प्रचार- प्रसार पर बल दिया।


स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ता जितेंद्र जीतू, पूर्व मुखिया सरोजनी भारती, रामबली महतो, राधाकांत पासवान, बगरस कल्याण समिति आदि ने शहीद के परिवार व गांव के विकास की मांग की।

कार्यक्रम में सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, बखरी द्वारा देशभक्ति व शहादत पर आधारित मनमोहक व भावपूर्ण प्रस्तुति के द्वारा दर्शकों को भावविभोर कर डाला। जिसमें सत्यम, आलोक, रीता, रिया, अंकिता, कोमल, लक्ष्मी, जूलीआदि ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। साथ ही गोस्वामी स्टडी सर्किल व प्रोजेक्ट बालिका उच्च विद्यालय, बखरी की अंशु आर्या, लक्ष्मी, प्रियंका तथा सरस्वती संस्थान बगरस की किरण, लक्ष्मी आदि के सुमधुर शहादत गीतों की प्रस्तुति भी की गई।

कीर्ति चक्र से सम्मानित होने वाले अमर शहीद पिंटू सिंह को शहादत दिवस पर जिला स्तरीय किसी पदाधिकारी, सांसद, विधायक व विधान पार्षद का नहीं आना चर्चा का विषय रहा। लोगों के मन में यह प्रश्न स्वाभाविक रूप से कौंध रहा था कि शीर्ष स्तर पर बड़ी-बड़ी घोषणाओं के बाद भी शहीद परिवार की सुधि लेने के लिए किसी बड़े प्रशासनिक अधिकारी व बड़े जनप्रतिनिधियों का नहीं आना आश्चर्यजनक है। सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीद के परिजन इससे ठगा सा महसूस कर रहे हैं।

शौर्य नमन कार्यक्रम में मौके पर ये अभिनव पहल, बखरी के तत्वावधान में आयोजित कार्यक्रम का संचालन समन्वय शिक्षक संजीव रजक और शिक्षक वसंत कुमार ने संयुक्त रूप से किया। कार्यक्रम को भाजपा अनुसूचित जाति मोर्चा के जिलाध्यक्ष रामशंकर पासवान, अल्पसंख्यक मोर्चा के जिलाध्यक्ष परवेज आलम, उपप्रमुख अमित कुमार देव, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष अमरनाथ पाठक, पवन सिंह, पूर्व जिला पार्षद नरेश पासवान, पूर्व पंसस पंकज पासवान, परिहारा ओपीध्यक्ष राजेश कुमार ठाकुर, रालोसपा नेता अशोक महतो कुशवाहा, सुमनजीत सिंह सुमन, प्रियांशु सिंह, गौतम सिंह राठौड़, प्रिंस सिंह, गोपेश कुमार, अभिषेक पोद्दार, अभिषेक राजन, रुपेश कुमार, विपिन कुमार, सुजीत कुमार समेत आसपास के हजारों लोगों ने उपस्थित होकर शहीद के प्रति अपनी श्रद्धा निवेदित की ।

शौर्य नमन कार्यक्रम परिसर में बखरी पीएचसी के द्वारा स्वास्थ्य शिविर भी लगाया गया। जहां प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ एम पी चौधरी के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण कर उन्हें आवश्यक दवा मुहैया कराई गई। शिविर में ब्लड प्रेशर, डाइवीटीज तथा कोवीड 19 के जांच की भी व्यवस्था की गई।वहीं सामाजिक सहयोग विकास समिति संस्था की तरफ से शिविर लगाकर समाजिक सुरक्षा पेंशन धारकों के जीवन प्रमाण पत्र का बार्षिक अद्यतन किया गया। जिसमें अच्छी संख्या में पेंशनधारी शामिल हुए। मौके पर उपस्थित स्थानीय पदाधिकारियों ने शहीद के आवासीय परिसर में वृक्षारोपण भी किया। अंत में दो मिनट का मौन रखकर ‘शौर्य नमन’ का समापन किया गया।

रिपोर्ट  : राजेश झा ।

मोबाइल नंबर – 9835638095

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

दो पक्षों में झगड़ा बंद कराने गई पुलिस पर उपद्रवियों ने बोला हमला

🔊 Listen to this समस्तीपुर 19 सितम्बर 2021 रिपोर्ट : सुबोध कुमार पुरजन । समस्तीपुर(बिथान) …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *