छात्रों को जल्द से जल्द प्रोमोट की जाए – संदीप किशोर

पटना 11 जुलाई 2020

न्यूज़ डेस्क : एक तरफ जहाँ कोरोना की मार लगातार भारत में बढ़कर पूरे विश्व में तीसरे स्थान पर पहुंच गई है वहीं दूसरी ओर छात्रों को अपनी भविष्य की चिंता सता रही है! तमाम छात्र संगठन अलग-अलग माध्यम से अपनी बातों को सरकार तक पहुंचाने का काम कर रहे हैं! ऐसे में एनएसयूआई के द्वारा सोशल मीडिया पर स्पीक अप फोर स्टूडेंट्स हैशटैग के साथ पूरे देश में छात्रों को सोशल मीडिया के माध्यम से सरकार तक अपनी बात को पहुंचाने हेतु मुहिम चलाई जा रही है, इसको लेकर एनएसयूआई के राष्ट्रीय संयोजक संदीप किशोर ने कहा कि लॉकडाउन को अब 3 महीने होने जा रहे हैं और इतने दिनों में ना तो केंद्र सरकार ना ही बिहार सरकार ने अपनी कोई एक बात भी छात्रों के लिए रखे हैं,यूजीसी द्वारा हर 15-20 दिनों में नए-नए तारीख के साथ नई गाइडलाइन जारी किया जाता है जिससे छात्र-वर्ग पूरी तरह असमंजस में है जबकि इस लॉकडाउन के अंतराल में सरकार द्वारा तमाम घोषणाएं किए गए, नई-नई योजनाएं लागू की गई लेकिन उन सारे योजनाओं और घोषणाओं में एक भी जगह छात्र को लेकर जिक्र तक नहीं किया गया!

हमारी सरकार से विनम्र आग्रह है कि जल्द से जल्द छात्रों की जिंदगी से खिलवाड़ किए बिना सारे छात्रों को नियमानुसार प्रोन्नति की जाय और जितने भी कॉलेजों में फीस ली जा रही कम से कम 6 माह की फीस माफ करने की कृपा करें! दूसरी सबसे बड़ी समस्या है कि बिहार में पटना या बहुत सारे ऐसे शहर है जहां अपनी उच्च कोटि की पढ़ाई को लेकर किसान मजदूर और बहुत सारे मध्यमवर्गीय परिवार के बच्चे आते हैं जिनके परिवार की आर्थिक स्थिति कोरोना के इस संक्रमण काल में भयवाह हो चुकी है जिससे वो अपने रूम-रेंट देने में असमर्थ है! लगातार रूम मालिकों के द्वारा रूम- रेंट के लिए डराया धमकाया जा रहा है ऐसे में सरकार को जल्द से जल्द पीड़ित छात्रों के लिए रूम रेंट माफ को लेकर कड़ा से कड़ा कानून बनाना चाहिए!

आप अपने आस-पास के क्षेत्रों की खबर जानने के लिए देखते रहे मिथिला सिटी न्यूज़

संपर्क सूत्र – 9835638095

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

कोरोना काल मे स्थगित स्नातक तृतीय खण्ड 2020 की परीक्षा सुरु।

🔊 Listen to this कोरोना काल मे स्थगित स्नातक तृतीय खण्ड 2020 की परीक्षा सुरु। …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *