सीतामढ़ी : औषधियों व उपकरणों के समुचित इन्वेंटरी प्रबंधन को मिला प्रशिक्षण

सीतामढ़ी 27 फरवरी 2020

– प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों व एमएनई को दी गयी ट्रेनिंग
– केयर इंडिया द्वारा किया जा रहा स्वास्थ्य कर्मियों का क्षमता वर्धन

सीतामढी  : जिले में बड़ी आबादी सरकारी स्वास्थ्य केन्द्रों द्वारा प्रदान की जा रही चिकित्सकीय सेवाओं एवं सुविधाओं पर निर्भर है। ऐसी दशा में सरकार द्वारा लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने की जिम्मेदारी अधिक बढ़ जाती है। यह बातें इन्वेंटरी प्रशिक्षण का उद्घाटन करते हुए सिविल सर्जन डॉ. कामेष्वर प्रसाद ने गुरुवार को कही। यह प्रशिक्षण प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, बीएचम, बीसीएम, दवा भंडार पाल को दिया गया जिसे एसआरयू केयर के डीटीओ डाॅ मेंहदी हसन ने दिया।
केयर जिला संसाधन ईकाई के डीटीएल मानस कुमार ने कहा स्वास्थ्य केन्द्रों में दवाओं एवं जरूरी चिकित्सकीय उपकरणों की निगरानी एवं इसकी समय से उपलब्धता बेहद जरूरी है। इसको ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग एवं केयर इंडिया के द्वारा एक नयी पहल की गयी है। इसके लिए मास्टर लेबल की ट्रेनिंग पहले ही राज्य स्वास्थ्य समिति में केयर के राज्य संसाधन ईकाई द्वारा दे दी गयी हैै। इसके लिए इ्र्र-औषधि के तहत ऑनलाइन दवाओं एवं उपकरणों की जानकारी उपलब्ध करायी गयी है। साथ में स्वास्थ्य केन्द्रों में उपलब्ध दवाओं एवं उपकरणों की इसके माध्यम से निगरानी भी की जा रही है।
हरेक पीएचसी के दवाआंे का अपना बाॅक्स
ई औषधि के तहत अब एक नई सुविधा श ुरु होने जा रही है। जिसके तहत हरेक प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों के नाम से जिला स्वास्थ्य समिति में अलग बाॅक्स रखा होगा। जिसमें पीएचसी द्वारा मांगी गयी दवाओं की सूची तथा कमी के अनुसार दवाएं बाॅक्स में रख दी जाएंगी। जिससे ससमय दवाआंे की आपूर्ति सुनिष्चित की जा सकेगी।
रजिस्टर में भी भरना होता है विवरण
औषधियों एवं उपकरणों की ऑनलाइन विवरण के साथ इसका विवरण रजिस्टर में भी भरने की सलाह दी गयी है। केयर इंडिया के तरफ से जिला स्वास्थ्य समिति को स्टॉक रजिस्टर,इंडेंट बुक, इंस्पेक्शन नोट, स्टॉक कार्ड उपलब्ध करायी गयी है। जिसका इस्तेमाल जिले के सभी अस्पतालों में किया जा रहा है।

प्रतिमाह हो रही समीक्षा
इन्वेंटरी रिकॉर्ड के उपयोगिता की समीक्षा प्रत्येक माह होने वाले जिलास्तरीय ई-औषधि समीक्षा बैठक में सिविल सर्जन द्वारा किया जाता है। साथ ही केयर इंडिया के माध्यम से छह माह में इसका मूल्यांकन कर प्रगति प्रतिवेदन से राज्य स्वास्थ्य समिति को अवगत कराना होगा। केयर इंडिया के डिटीएल मानस कुमार ने बताया कि जिले के सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों व स्टोर कीपर को प्रिंटेड रजिस्टर के इस्तेमाल के बारे में जानकारी दी गयी है।

दवाओं व उपकरणों की जानकारी ऑनलाइन

ई-औषधि एवं ई-उपकरण से जिला एवं प्रखंड स्तरीय अस्पतालों में दवाओं एवं उपकरणों की सूचनाओं को ऑनलाइन कर इसे अधिक पारदर्शी बनाने की पहल की गयी है। इससे दवाओं एवं जरूरी उपकरणों की माँग एवं वर्तमान स्टॉक का पता चलता है, इससे जल्द एक्सपायर होन वाली दवाओं की भी जानकारी भी मिल जाती है। जिससे आपूर्ति सुनिश्चित करन एवं एक्सपायर दवाओं के समय से पहले उपयोग में आसानी होगी।

निगरानी के साथ पारदर्शिता में बढ़ोतरी
दवाओं एवं उपकरणों की जानकारी ऑनलाइन होने से स्वास्थ्य केन्द्रों में उपलब्ध दवाओं के बारे में जानकारी उपलब्ध होगी। चिकित्सकों द्वारा लिखे जाने वाले दवा पर्ची को ऑनलाइन करने से दवाओं की वास्तविक माँग का पता चलेगा। दवा के डिमांड के अनुसार आपूर्ति किए जाने पर पूरा विवरण पोर्टल पर ऑनलाइन दर्ज हो जाएगा। इससे जिला स्तर से लेकर राज्य स्तर द्वारा स्वास्थ्य केन्द्रों में उपलब्ध दवाओं की निगरानी के साथ पारदर्शिता में बढ़ोतरी होगी। इससे दवाओं की एक्सपायरी का भी पता चलेगा एवं एक्सपायर होने वाली दवाओं की उपलब्धता खपत से पहले की जा सकेगी।
मौके पर सिविल सर्जन डाॅ. कामेश्वर प्रसाद, केयर डीटीएल मानस कुमार, केयर के डीटीओ फैसिलिटी डाॅ मेंहदी हसन समेत सभी पीएचसी के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, एमएनई, स्टोरकीपर शामिल थे।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

विधायक आलोक मेहता ने 31 लाख़ 51 हजार 330 रुपए की लागत से भिभिन योजनाओं का किया शिलान्यास

🔊 Listen to this मिथिला सिटी न्यूज समस्तीपुर/दलसिंसराय(आर वर्मा):-स्थानीय विधायक आलोक कुमार मेहता ने विधानसभा …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *