पश्चिम चंपारण  : एक दिवसीय प्रशिक्षण शिविर समाप्त – मिथिला सिटी न्यूज़ 

पश्चिम चंपारण 17 नवम्बर 2019

रिपोर्ट  : आर के राय ।

पश्चिम चंपारण (बेतिया) ::-भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी)की पश्चिम चम्पारण जिला स्तरीय प्रशिक्षण शिविर 16 नवम्बर को मीना बाजार स्थित पार्टी कार्यालय में का. रामा यादव ने अध्यक्षता की ।
पूर्व पार्टी राज्य कमिटी सदस्य ,आरा के कर्मठ किसान नेता का.मंगल प्रसाद सिंह ,भोला पुर खरहट भूमि आन्दोलन के कार्यकर्ता का.गफ्फार अंसारी के मृत्यु पर एक मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गयी ।
इस शिक्षण शिविर को पार्टी के बिहार राज्य सचिव का.अवधेश कुमार ,राज्य सचिवमंडल सदस्य का.गणेश शंकर सिंह तथा राज्य सचिवमंडल सदस्य एवं जिला मंत्री का.प्रभुराज नारायण राव ने संबोधित करते हुए कहा कि बिगत लोकसभा चुनाव में हमने चाहा था कि देश में वामदलों एवं धर्मनिरपेक्ष शक्तियों की ताकत बढ़े । मिलकर चुनाव चुनाव लड़ा जाय।ऐसा नहीं हो सका ।साम्प्रदायिक शक्तियों की भारी जीत हुई । केन्द्रीय कमिटी गहन चर्चा कर निर्णय लिया कि जनता के साथ गहरा लगाव बढ़ाया जाय ।सामाजिक ,वर्गीय आधार पर उनके साथ रिश्ते बढ़ाया जाय ।तमाम शाखा कमिटियों को सक्रिय बनाया जाय ।बड़े पैमाने पर युवकों को पार्टी में शामिल किया जाय ।पार्टी प्रकाशनों को लोगों तक पहुंचाया जाय ।


देश की वर्तमान सरकार कारपोरेट ,पूंजीपतियों और सामंतो की सरकार है ।वोट लेने के लिये साम्प्रदायिकता का नंगा नाच ,जातपात ,पैसे देकर लुभाने का काम कररहे हैं ।देश के सेना का दुरुपयोग किया जा रहा है ।भारत और पाकिस्तान के बीच के संवेदशील सवालों को उभारा जा रहा है ।इस लिये इस ब्यवस्था को खत्म करना होगा ।इसके लिये संगठन का विस्तार जरुरी है ।क्योंकि हमें सामंतवाद ,पूंजीवाद तथा कारपोरेट जगत से मुकाबला लेना है ।
देश में बढ़ रही आर्थिक मंदी ,जी डी पी का सबसे निचले पर आना ,रुपये का अवमूल्यन ,बढ़ती बेरोजगारी ,शैक्षणिक संस्थानों बढ़ती फीस बढ़ोतरी तथा उसके खिलाफ बोलने वाले छात्रों पर अमानवीय हमले ,मजदूरों के वेतन कटौती ,किसानों के साथ वादा खिलाफी ,गन्ने के मूल्य में कोई बढ़ोतरी नहीं होना ,स्वामीनाथन आयोग के आधार पर धान का न्यूनतम मूल्य निर्धारित न होना ,सार्वजनिक संस्थाओं का निजीकरण, आर बी आई से पहली बार किसी प्रधान मंत्री द्वारा एक सौ छिहत्तर लाख करोड़ रुपये लेकर कारपोरेट के हित में खर्च करना ,खेत मजदूरों के लिये कोई योजना नहीं बनाना ,मनरेगा में कटौती के विरुद्ध जन समुदाय को जागृत कर संघर्ष के लिये तैयार करना इस शिक्षण शिविर का मकसद है ।हमें मार्क्सवाद ,लेलिनवाद के रास्ते पर चलकर वर्ग संघर्ष को तेज करना होगा ।पार्टी सदस्यों का आम जनता से ब्यक्तिगत लगाव बढ़ाना होगा ।


सौ साल पहले 1920 में कम्युनिस्ट पार्टी की स्थापना का.एम एन राय के नेतृत्व में ताशकंद में हुआ । आज सौ साल वाद हम यहाँ बैठे हैं ।हमने पश्चिम बंगाल ,केरल त्रिपुरा में भूमि सुधार कानून लागू कर लाखों गरीब भूमिहीनों को जमीन दिलाया है ।रूस में लेनिन को भी कुछ साथियों को लचीला होने का सुझाव दिया था ।लेकिन लेनिन क्रान्ति के लक्ष्य मंजिल तक ले जाने के लिये कोई समझौता नहीं किया । हमें भी संशोधनवाद से लड़ना होगा । पार्टी सदस्यता लेने के लिये संबिधान के धारा 5 के आधार पर सदस्यता के लिये सपथ लेते हैं कि पार्टी के फैसलों को अपने स्वार्थ से ऊपर रख कर पार्टी के लिये काम करूंगा । फिर भी एक हिस्सा कार्यक्रमों में हिस्सा नहीं लेते । इस लिये ऐसे लोगों पर पार्टी का भार नहीं दिया जा सकता ।पार्टी सदस्यों के कर्तब्यों को पूर्ण रूप से पालन करना होगा ।
शिक्षण शिविर को बिहार राज्य सचिवमंडल सदस्य प्रभुराज नारायण राव ने भी सम्बोधित किया तथा समापन भाषण बिहार राज्य सचिवमंडल सदस्य तथा जिला प्रभारी का.गणेश शंकर सिंह ने किया ।

चांदसी प्रसाद यादव कार्यकारी जिला सचिव ,विजय नाथ तिवारी ,प्रभुनाथ गुप्ता ,म.हनीफ ,शंकर कुमार राव ,नीरज वर्णवाल ,वी के नरुला, हरेन्द्र प्रसाद ,जगरनाथ यादव ,अवध विहारी प्रसाद ,रंजन शर्मा ,म.वहीद, सुनील यादव,शंकर दयाल गुप्ता ,भूलन यादव,सुशील श्रीवास्तव ,सदरे आलम ,अनिल अनल सहित एक सौ से ज्यादा कार्यकर्ताओं ने शिक्षण शिविर में भाग लिया ।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

कोरोना काल मे स्थगित स्नातक तृतीय खण्ड 2020 की परीक्षा सुरु।

🔊 Listen to this कोरोना काल मे स्थगित स्नातक तृतीय खण्ड 2020 की परीक्षा सुरु। …