Breaking News

बिहार शताब्दी युवा सम्मान से सम्मानित होंगे चन्दनपट्टी 10+2 के हिंदी शिक्षक डॉ. प्रभात कुमार ‘प्रभाकर’ 

पटना 06 अगस्त 2019

रिपोर्ट : नसीम रब्बानी।

बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन, पटना अपने शताब्दी वर्ष के अवसर पर देश के सौ युवा साहित्यकारों को शताब्दी युवा साहित्यकार सम्मान से सम्मानित करने जा रही है। इस अवसर पर बारो के  लालो पोद्दार के पुत्र डॉ. प्रभात कुमार ‘प्रभाकर’ का चयन होना बेगूसराय ज़िला के लिए अति गौरव की बात है। यह सम्मान झारखंड की राज्यपाल  द्रोपदी मुर्मू के द्वारा 11 अगस्त को एक विशाल राष्ट्रीय सम्मेलन में दिया जाएगा। यह जानकारी उन्हें बिहार हिंदी साहित्य सम्मेलन के अध्यक्ष डॉ. अनिल सुलभ ने दी। बता दें कि डॉ. ‘प्रभाकर’ की अभी तक आधा दर्जन पुस्तकों का प्रकाशन हो चुका है। जिनमे अज्ञेय की अलंकारधर्मिता के नव्य आयाम, अज्ञेय:विचार और विमर्श ,हिंदी साहित्य विविध विमर्श ये तीनों आलोचनात्मक पुस्तक है।

चमन चमन के फूल, पद्य प्रसून ये दो पुस्तक काव्य संग्रह है तो एक यूजीसी नेट के पाठ्यक्रम में आये कहानियों पर आधारित पुस्तक का प्रकाशन शीघ्र होने जा रहा है।
डॉ. ‘प्रभाकर’ फ़िलवक्त मुज़्ज़फ़रपुर के सकरा प्रखंड में स्थित गिरीन्द्र नारायण उच्च विद्यालय में 10+2 में हिंदी शिक्षक के रूप में कार्यरत हैं।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

वैशाली  : श्रम संसाधन विभाग द्वारा श्रमिकों के लिए चलाई जा रही योजनाओं के तहत लाभुकों को किया गया आच्छादित – मिथिला सिटी न्यूज़ 

🔊 Listen to this वैशाली 16 अगस्त 2019 रिपोर्ट : नसीम रब्बानी। बिहार वैशाली जिला …