Breaking News

मातृ दिवस के अवसर पर जगह-जगह कार्यक्रम का हुआ आयोजन 

समस्तीपुर/बेगुसराय 13 मई 2019

रिपोर्ट : राजेश झा ।

प्यार, अपनापन व निष्काम समर्पण का दूसरा नाम है माँ।
ना जाने क्यों आज अपना ही घर मुझे अनजान सा लगता है,
तेरे जाने के बाद ये घर खाली मकान सा लगता है।।
मातृ – वंदन कार्यक्रम में माताओं का किया गया सामूहिक अभिनंदन।
माँ के आशीर्वाद से बड़ा कोई धन नहीं, माँ की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं।

उत्क्रमित उच्च विद्यालय, घाघड़ा में मातृ – वंदन कार्यक्रम का आयोजन किया गया। शिक्षा व पर्यावरण संरक्षण के लिए कार्य करने वाली संस्था अभिनव पहल, बखरी के द्वारा माताओं के अभिनंदन के लिये आयोजित कार्यक्रम में सैकड़ों बच्चों ने माँ के चरणों में सामूहिक रूप से आशीर्वाद प्राप्त कर संभी माताओं के सम्मान का संकल्प लिया।

स्वामी विवेकानंद सभागार में उपस्थित सैकड़ों बच्चों व उनकी माताओं को संबोधित करते हुए डॉक्टर विवेक कुमार केशरी ने कहा कि माँ वह अलौकिक शब्द है जिसके स्मरण मात्र से ही रोम-रोम पुलकित हो जाता है। माँ पवित्र प्रेम, अपनापन, आत्मीयता और निष्काम समर्पण का दूसरा नाम है जो अपने बच्चों की बेस्ट फ्रेंड होती है। माँ का त्याग, बलिदान, ममत्व व समर्पण अपनी संतान के लिए इतना विराट है कि पूरी जिंदगी भी समर्पित कर दी जाय तो माँ के ऋण से उऋण नहीं हुआ जा सकता है। माँ के आशीर्वाद से बड़ा कोई धन नहीं, और माँ की सेवा से बड़ा कोई धर्म नहीं। पूर्व सरपंच राजीव नंदन ने कहा कि घर के अंदर पुरी पाठशाला है माँ। स्त्री जब माँ बनती है तो जीवन भर माँ बनकर ही रह जाती है।

संचालन करते हुए अभिनव पहल सचिव व शिक्षक वसंत कुमार ने कहा कि हर एक के जीवन में माँ एक अनमोल इंसानी रिश्ते के रूप में रहती है, जिसके बारे में शब्दों में बयां नहीं किया जा सकता है। ममता और स्नेह के इस पावन रिश्ते को संसार का सबसे खूबसूरत रिश्ता कहा जाता है। दुनिया का कोई भी रिश्ता इतना मर्मस्पर्शी नहीं हो सकता, जितना माँ का अपने संतानों के लिए होता है। माँ के प्रति आभार व्यक्त करने के लिए एक दिन क्या, कई सदियाँ भी कम पर जाती है।

वहीं धन्यवाद ज्ञापित करते हुए संस्था के जनसंपर्क पदाधिकारी दीपक रजक ने सभी छात्र – छात्राओं से अनुरोध किया कि माँ का स्थान कोई नहीं ले सकता, अतः माँ का सम्मान, माँ की खुशियों का ख्याल हर हाल में रखना चाहिए। कार्यक्रम को विद्यालय प्रभारी तौसिफ आलम, प्रतिमा कुमारी, जितेन्द्र कुमार जिज्ञासु, विपिन कुमार, अभिजीत कुमार, अमर सहनी, मुकेश कुमार, जाहिद आलम, विद्यालय शिक्षा समिति के सचिव सहित अन्य कई सदस्य आदि ने भी जीवन में माँ के महत्व पर प्रकाश डाला। कार्यक्रम की शुरुआत द्वीप स्वामी विवेकानंद व ए0पी0जे0 अब्दुल कलाम के तैल चित्र पर पुष्पांजलि व द्वीप प्रज्जवलित कर की गई। मौके पर छात्र – छात्राओं ने माँ की ममता से संबंधित कई भावनात्मक गीत प्रस्तुत किया।

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

बिहार : मीडिया के माध्यम घर बैठे समाधान पाइए का विज्ञापन पर कई ठग सक्रिय – मिथिला सिटी न्यूज़

🔊 Listen to this बिहार 11 दिसंबर 2019 मधुबनी  : आजकल सोशल मीडिया से लेकर …